सचिन पायलट, और उनके समर्थक विधायकों की विधायकी पर जयपुर उच्च न्यायालय में सुनवाई शुरू

0
379
Sachin Pilot came back to Congress
Sachin Pilot (File Image)

नई दिल्ली/आशीष भट्ट। राजस्थान सियासी ड्रामा अभी थमने का नाम नहीं ले रहा है पहले राजस्थान फिर दिल्ली, और दिल्ली से होते हुए यह मामला अब राजस्थान उच्च न्यायालय पहुंच चुका है आज हाईकोर्ट में 2 जजों की बेंच इस मामले पर सुनवाई कर रही है कि सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों को अयोग्य माना जाए या नहीं.

राहुल गांधी का हमला कहा – चीन पीएम मोदी के 56 इंच वाले आइडिया पर अटैक कर रहा है

आपको बता दें राजस्थान की विधानसभा के अध्यक्ष ने सचिन पायलट और उनके समर्थक बागी 18 विधायकों को एक नोटिस दिया था इस नोटिस में कहा गया था कि उनकी विधायकी को अयोग्य ठहरा दिया जाएगा. हाईकोर्ट ने पहले ही विधायकों के खिलाफ विधानसभा स्पीकर की तरफ से किसी भी कार्रवाई पर 21 जुलाई तक के लिए रोक लगा दी थी आज इस मामले पर ही जयपुर उच्च न्यायालय में सुनवाई हो रही है.

Breaking : असम में बाढ़ से 6 और लोगों की जान गई, अबतक कुल 84 लोगो की मौत

आपको बता दें राजस्थान सियासी ड्रामे को लगभग 10 दिन हो चुके हैं राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों ने सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया था और कहा था कि अशोक गहलोत की सरकार अल्पमत में है, उसके बाद दिल्ली में हड़कंप मचा दिल्ली के कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजस्थान पहुंचे विधायक दल की बैठक भी हुई विधायक दल की बैठक में अशोक गहलोत के साथ 109 विधायक थे आपको बता दें राजस्थान विधानसभा में सरकार बनाने के लिए 101 विधायक की आवश्यकता होती है लेकिन अशोक गहलोत के पास 109 विधायक थे तो उनकी सरकार बच गई. इसके बाद पार्टी और सरकार ने फैसला लिया और सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री पद से भी हटाया गया और कांग्रेस राजस्थान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से भी हटाया गया.

जानिए देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा के लिए 20 जुलाई का दिन क्यों है बेहद खास

अब आज जयपुर उच्च न्यायालय में सचिन पायलट और 18 अन्य कांग्रेस विधायकों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष द्वारा उन्हें अयोग्य घोषित किए गए नोटिस के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई राजस्थान उच्च न्यायालय की जयपुर बेंच के सामने चल रही है. मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महांति और न्यायमूर्ति प्रकाश गुप्ता मामले की सुनवाई कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here