Chandra Grahan 2020: चंद्रग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं रखें इन खास बातों का ध्यान

0
190
pratibimbnews
pratibimbnews

नई दिल्ली/ दीक्षा शर्मा। इस साल का दूसरा चंद्रग्रहण आज 5 जून 2020 को रात 11:15 से बजे से शुरू होकर और 6 जून 2:34 बजे तक रहेगा. कहा जा रहा है कि भारत में दिखाई देने वाला यह चंद्रग्रहण उपच्छाया चंद्रग्रहण है, जिसकी वजह से इसका सुतककाल मान्य नहीं है. आज का चंद्रग्रहण अशुभ नहीं है इसलिए आप अपने सारे कार्य कर सकते हैं. लेकिन इस दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए.

Chandra Grahan 2020: आज कहां-कहां दिखाई देगा यह ग्रहण, जाने भारत पर इसका असर

क्यों रखें गर्भवती महिलाएं चंद्रग्रहण में ध्यान

कहा जाता है कि चंद्रग्रहण के वक्त गर्भवती महिलाओं को अपनी विशेष ध्यान की आवश्यकता होती है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय सावधानी इसलिए बरतनी होती है ताकि उनके होने वाले बच्चे पर इसका गलत प्रभाव न पडे़.

चंद्रग्रहण के दौरान क्या करें गर्भवती महिलाएं

घर में ही रहें

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि चंद्रग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं अपने घर में ही रहें. कहा जाता है कि ग्रहकाल में प्रकृति में कई तरह की अशुद्ध और हानिकारक किरणों का प्रभाव रहता है, इसलिए इस समय घर में रहना ही सबसे सुरक्षित है.

भगवान का जाप करें

गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान गुरु प्रदत्त मंत्र का जाप करते रहना चाहिए भगवान का ध्यान करना चाहिए. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण काल में मंत्र जप करना चाहिए

स्नान और गंगाजल का छिड़काव करें

चंद्रग्रहण के खत्म हो जाने के बाद गर्भवती महिलाओं को स्नान करना चाहिए. इस बात का ध्यान रखें कि ग्रहण काल के दौरान स्नान नहीं करना चाहिए. स्नान के जल में थोड़ा गंगा जल मिला लें. और स्नान के बाद घर में गंगा जल का छिड़काव कर लें. कहा जाता है ऐसा करने से घर से नकारात्मकता दूर चली जाती है.

चंद्रग्रहण के दौरान क्या न करें गर्भवती महिलाएं

चंद्रमा को ना देखें

गर्भवती महिलाओं को चंद्र ग्रहण के समय चंद्रमा को नहीं देखना चाहिए. और ना ही चांद को खुली आंखों से देखें. कहा जाता है कि ग्रहकाल में प्रकृति में कई तरह की अशुद्ध और हानिकारक किरणों का प्रभाव रहता है.

सेवन ना करें

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण काल में गर्भवती महिलाओं को भोजन नहीं करना चाहिए. वैसे कहा जाता है कि इस समय पानी का सेवन भी नहीं किया जाता है. अगर स्वास्थ्य ठीक नहीं है तो फल और जल का सेवन किया जा सकता है.

कपड़ों की सिलाई से दूर रहें

गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के समय कपड़ो की सिलाई नहीं करनी चाहिए. कैंची, सुई, चाकू
या धारदार चीज़ों का इस्तेमाल ना करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here