जब करीना कपूर ने कर दिया था इस एक्टर के साथ रोमांस करने से साफ इंकार, कहा – ये तो मेरे भाई जैसा है

0
396
When Kareena Kapoor had refused to romance this actor

नई दिल्ली/दीक्षा शर्मा। फिल्म इंडस्ट्री में करीना कपूर की गिनती सबसे मशहूर और खूबसूरत एक्ट्रेस में होती है. इसके अलावा अगर उनके काम की बात करें तो वह लगभग हर बड़े सितारे के साथ फिल्मों में काम कर चुकी हैं. लेकिन एक एक्टर ऐसे हैं, जिनके साथ करीना कपूर ने रोमांस करने से साफ इंकार कर दिया था. जे.पी. दत्ता की साल 2000 में आई अभिषेक बच्चन और करीना कपूर की रिफ्यूज़ी फिल्म तो याद ही होगी. इस फिल्म में दोनों सितारों का डेब्यू किया गया था. लेकिन ऐसा क्या हुआ कि करीना कपूर ने अभिषेक बच्चन के साथ रोमांस करने के लिए साफ़ मना कर दिया?.

Good News : अनुष्का शर्मा जल्द बनने वाली है मां, विराट कोहली ने फोटो शेयर कर दी खुशखबरी

दरअसल, जब अभिषेक और करीन के सामने पहले रोमेंटिक सीन की बात आई तो करीना बहुत हिचकिचाने लगीं. उन्होंने जे.पी दत्ता से कहा- ‘जे.पी अंकल, ये मेरे भाई जैसे हैं. मैं इसके साथ रोमांस कैसे कर सकती हूं?’ इसके बाद वो अभिषेक की ओर मुड़ते हुए बोलीं, तुम मेरे भाई जैसे हो. मैं तुम्हारे साथ रोमांटिक सीन नहीं कर सकती.

आपको बता दें कि करीना कपूर अभिषेक बच्चन को अपना भाई मानती है इसलिए वो उनके साथ रोमांस नहीं कर सकती. इस फिल्म में करीना और अभिषेक के अलावा, जैकी श्रॉफ, सुनील शेट्टी और अनुपम खेर भी अहम भूमिका में थे. हालांकि, फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास नहीं चल सकी. लेकिन, फिल्म में करीना की एक्टिंग सभी को पसंद आई. वो उनकी पहली फिल्म थी और इसके लिए उन्हें फिल्मफेयर का बेस्ट डेब्यू अवॉर्ड भी मिला था.

इस बात का खुलासा खुद अभिषेक बच्चन ने किया था जब करीना कपूर एक सिमी ग्रेवाल के शो में पहुंची थी. इसी दौरान सिमी अभिषेक को वीडियो कॉल किया था. अभिषेक ने इस बात का खुलासा किया कि करीना ने उनके साथ रोमांस करने से साफ इंकार कर दिया था. अभिषेक बच्चन ने कहा था कि वो अपना पहला रोमांटिक सीन कभी नहीं भूल सकते. अभिषेक के मुताबिक, जब करीना को रोमांटिक सीन करने को कहा गया तो उन्होंने कहा कि वो मुझे भाई मानती हैं. करीना ने डायरेक्टर से कहा था कि, मैं ये कैसे कर सकती हूं. अभिषेक मेरे भाई जैसा है.

सनी लियोनी के इस बिकिनी फोटो शूट ने इंटरनेट के तोड़े सारे रिकॉर्ड, बेड पर नजर आईं सनी

फिल्म ‘रिफ्यूज़ी’ की कहानी आज़ादी के बाद पार्टिशन के दौर में बुनी गई है. एक लड़का है, जो लोगों को बॉर्डर पार करवाता है. उसका नाम ही रिफ्यूज़ी है. बिहार का एक मुस्लिम परिवार आज़ादी के बाद पाकिस्तान चला जाता है. लेकिन उसे वहां से पूर्वी पाकिस्तान जाने को कहा जाता है. पश्चिमी से पूर्व पाकिस्तानी जाने के लिए हिन्दुस्तान से होकर गुज़रना पड़ता है. यहां इनके काम आता है रिफ्यूज़ी. उस परिवार में नाज़नीन नाम की एक लड़की भी है. इस जर्नी के दौरान रिफ्यूज़ी को नाज़ से प्यार हो जाता है. इसके बाद इनके जीवन में कई बदलाव आते हैं, जिससे इनका प्यार परवान चढ़ता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here