Vastu shastra: घर के मंदिर में न रखें एक भगवान की दो तस्वीरें, हो सकता है बड़ा नुकसान

0
183

नई दिल्ली/पूजा शर्मा। हम सभी के घरों में अक्सर ऐसा होता है कि हम घर की साज सजावट पर तो बहुत ध्यान देते हैं लेकिन घर में बने मंदिर की ओर हमारा ध्यान नहीं जाता. आपको बता दें कि वास्तु शास्त्र (Vastu shastra) के अनुसार पूजा घर में सकारात्मक ऊर्जा बनाए रखने के लिए कुछ उपाय करने बेहद जरुरी है. जैसे घर में बने मंदिर को हमेशा साफ रखा चहिए जिससे मंदिर में विराजमान भगवान भी खुश रहते है. आइए, जानते हैं वास्तु शास्त्र (Vastu shastra) के नियम के अनुसार घर में बने मंदिर को कैसे सकारात्मक रुप दें सकते है.

ये भी पढ़ें Vastu shastra: सावन में ये काम करने से चमकेगा किस्मत का सितारा, भगवान शिव का होगा वास

मूर्तियों का पिछला भाग न दिखे

एक बात हमेशा ध्यान रखना कि घर के मंदिर में भगवान की मूर्तियों को सामने की तरफ रखना चाहिए. मंदिर हो या घर की कोई ओर जगह, कहीं भी भगवान की मूर्ति को इस तरह नहीं रखना चाहिए कि जिससे की उसके पीछे का भाग, यानी पीठ दिखाई दे. मूर्ति बिल्कुल सामने से दिखनी चाहिए.

गणेश जी की दो से अधिक मूर्तियां न रखें

वास्तु शास्त्र (Vastu shastra) के अनुसार पूजा घर में कभी भी गणेश जी की दो से अधिक मूर्तियां या तस्वीर नहीं रखनी चाहिए. ऐसा कहा गया है कि भगवान गणेश की दो से अधिक मूर्तियां या तस्वीर रखने से शुभ फलदायी नहीं होता है.

ये भी पढ़ें Vastu shastra : घर में रखें इन चीजों का ध्यान, नहीं पडे़गा सेहत पर कोई असर

एक जगह पर एक भगवान की दो तस्वीरें न रखें

वास्तु शास्त्र का नियम ये भी कहता है कि एक ही जगह पर एक भगवान की दो तस्वीरें नहीं रखनी चाहिए. ऐसा हो सकता है कि घर की दो अलग-अलग जगहों पर एक भगवान की दो तस्वीर हो सकती हैं, लेकिन एक जगह पर रखना अशुभ माना जाता है

खण्डित मूर्तियां न रखें

ये बात खास ध्यान रखने वाली है कि घर के मंदिर में भूल कर भी खंडित मूर्तियों नहीं रखना चाहिए. यदि कोई मुर्ति खण्डित हो जाती है तो उन्हें तुरंत विसर्जित कर देना चाहिए. घर में हमेशा सौम्य, सुंदर और आशीर्वाद की मुद्रा वाली भगवान की मूर्तियां ही लगानी चाहिए. इससे घर या मन्दिर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है.

ये भी पढ़ें vastu shastra : भूलकर भी सोते समय ये चीजें न रखें सिरहाने, जीवन पर पड़ता है असर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here