Rahasya : इस्लामिक धर्म में एक दिन में 5 बार क्यों पढ़ी जाती है नमाज़? जानिए

0
286
Rahasya

नई दिल्ली/दीक्षा शर्मा। (Rahasya) यह तो हम सभी जानते हैं कि नमाज़ फारसी भाषा का एक शब्द है. पवित्र कुरान में कहा गया है कि जितनी बार नमाज अदा की जाती है उतनी ही बार अजान भी दी जाती है. अक्सर आपने इस बात पर ध्यान दिया होगा कि इस्लाम धर्म में हर स्त्री पुरुष दिन में पांच बार नमाज़ पढ़ते हैं.

ये भी पढ़ें Rahasya : भारत का एक ऐसा पेड़ जिसकी सुरक्षा के लिए 24 घंटे तैनात रहती है पुलिस,सालाना खर्च होते हैं 15 लाख़ रूपए

(Rahasya) यह उनका सदियों से चलता आ रहा विधान है, जो मुस्लिम समुदाय का हर व्यक्ति निभता है. कुरान के मुताबिक इस्लाम के आरंभ काल से ही नमाज की प्रथा और उसे पढ़ने का आदेश है. यह मुसलमानों का बहुत बड़ा कर्तव्य है. इसके अलावा कुरान शरीफ में भी नमाज शब्द बार-बार इस्तेमाल किया गया है. लेकिन क्या आप यह जानते हैं ऐसा क्यों है? इस्लामिक धर्म में एक दिन में 5 बार नमाज़ क्यों पढ़ी जाती है?

ये भी पढ़ें Rahasya : क्या आप जानते है एक रात के लिए किन्नर भी करते हैं शादी, अगले दिन हो जाते हैं विधवा…

पहली नमाज (नमाज-ए-फ़जर)- यह उषा काल की नमाज है जो सुबह सूर्य के उगने से पहले पढ़ी जाती है.

दूसरी नमाज (नमाज-ए जुह्र)- यह अवनति काल की नमाज है. जिसे सूर्य के ढलना शुरू होने के बाद पढ़ी जाती है.

तीसरी नमाज (नमाज -ए-अस्र) यह सूर्यास्त के समय की नमाज है. जिसे सूरज के डूबने (अस्त) से कुछ वक्त पहले अदा की जाती है.

चौथी नमाज (नमाज-ए-मग़रिब) यह संध्या काल की नमाज है. जिसे सूरज अस्त (डूबने) के तुरंत बाद अदा की जाती है.

पंचवीं नमाज (नमाज-ए-इषा) यह रात की नमाज है. जिसे सूरज डूबने के डेढ़ घंटे बाद अदा की जाती है.

ये भी पढ़ें Bollywood Suicide: केवल सुशांत सिंह राजपूत ही नहीं, इन 4 अभिनेत्रियों की आत्‍महत्या भी बनी हुई है रहस्य

नमाज के बारे में पवित्र कुरान में एक आयात का जिक्र मिलता है. जिसके माध्यम से कहा गया है कि “ऐ ईमान वालों सब्र और नमाजों से काम लो”. दरअसल, कहते हैं कि दिन में पांच बार नमाज की मिसाल इंसान के दरवाजे पर स्थित पांच पवित्र नहरों की तरह है. कुरान कहता है कि जिस प्रकार इन पांच नहरों में नहाकर पवित्र हो सकता है, ठीक उसी प्रकार दिन में पांच बार नमाज अदा कर इंसान भी पवित्र हो जाता है और दुनिया द्वारा दी गई कलिख और मैल को धो डालते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here