Rahasya : क्या आप जानते हैं महिलाओं का श्मशान घाट जाना क्यों वर्जित है? जानिए मुख्य कारण

0
300
Rahasya pratibimb news

नई दिल्ली/दीक्षा शर्मा। (Rahasya) हिन्दू धर्म में आपने यह जरूर देखा होगा कि जब भी किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो अंतिम संस्कार के लिए शमशान घाट केवल पुरुष जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं इसके पिछे क्या कारण है? कहा जाता है कि जब किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है तो शव के घर से बाहर निकलने के बाद पूरे घर को साफ किया जाता है, ऐसा इसलिए किया जाता है कि घर में कोई नकारात्मक माहौल ना रह जाए. इसलिए इस दौरान महिलाओं का घर में होना बहुत ज़रूरी होता है.

ये भी पढ़ें Rahasya : हिंदू धर्म में विवाह के दौरान सात फेरे ही क्यों लिए जाते हैं,जानिए

महिलाओं का शमशान ना जाने का कारण यह भी कि औरत का दिल पुरुष के दिल से ज्यादा कोमल और नरम होता है. कहा जाता है कि अगर श्मशान घाट पर कोई रोता है तो जिस इंसान का दाह संस्कार हो रहा है उसकी आत्मा को शांति नहीं मिलती है.

ये भी पढ़ें Rahasya : भारत का एक ऐसा मंदिर, जहां प्रसाद के तौर पर सोने के आभूषण मिलते हैं

यह बात तो हम सब जानते हैं कि श्मशान घाट में आत्माएं वास करती है, और ज्यादातर आत्मा महिलाओं को ही अपना निशाना बनाती हैं. इसलिए भी महिलाओं को शमशान घाट नहीं जाने दिया जाता.

ये भी पढ़ें Rahasya : सनातन धर्म में महिलाओं क नारियल फोड़ना के लिए क्यों है मनाही, जानिए धार्मिक कारण

हिंदू रीति रिवाजों के अनुसार अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले परिवार के सदस्ययों को अपने बाल मुंडवाने होते हैं. इस प्रथा से महिलाएं दूर रहें इसलिए उन्हें वहां जाने की अनुमति नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here