Happy birthday Nawazuddin Siddiqui 2020

0
137

नई दिल्ली/ पूजा शर्मा। बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी (Nawazuddin Siddiqui) आज अपना 46वां बर्थडे मना रहे हैं. नवाज के करियर के बारे में बात की जाए तो वो आज बॉलीवुड के ऐसे एक्टर हैं जिनके साथ हर अभिनेता और अभिनेत्री काम करना चाहते हैं. हालांकि नवाज आज जिस मुकाम पर हैं यहां तक पहुंचने के लिए उन्हें बहुत मेहनत करनी पड़ी. एक लंबे समय के बाद उन्हें सिनेमा ने उनकी पहचान उन्हें दी है. नवाज़ अपनी फिल्मों के साथ साथ असल जिंदगी में भी एक हीरो का किरदार अदा करते हैं. एक ऐसा हीरो जो एक छोटी सी जगह से निकल कर बॉलीवुड के बड़े सितारों के बीच अपनी जगह बनाता है. इसलिए कहा जाता है कि नवाज़ अपनी फिल्मों के किरदारों के साथ साथ असल जिंदगी का किरदार निभाने में भी माहिर हैं.

नवाज यूं तो लंबे वक्त से बॉलीवुड में हैं लेकिन उन्हें पहचान कुछ साल पहले ही मिली. नवाज पहले फिल्मों में छोटे-मोटे रोल किया करते थे, तब उन्हें कोई नहीं पहचानता था. लेकिन कुछ साल पहले एक फिल्म ने उनकी किस्मत ऐसे बदली कि फिर कभी उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज उनके बर्थडे पर पर हम आपको बताते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ी ऐसी बातें जो आप नहीं जानते होंगे.

नवाजुद्दीन सिद्दीकी का जन्म 1974 में उत्तर प्रदेश के बुढाना में हुआ था. साल 1996 में नवाज दिल्ली आए और यहां आकर उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से एक्टिंग की पढ़ाई पूरी की. एक्टिंग की ट्रेनिंग लेने के बाद वो मुंबई चले गए. मुंबई पहुंचकर उन्होंने 1999 में आई बॉलीवुड फिल्म ‘सरफरोश’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया. इस फिल्म में हालांकी नवाज का छोटा सा किरदार था. इस फिल्म में नवाज क्रिमिनल बने थे. इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में काम किया जैसे, जंगली, शूल और दिल पे मत ले यार. लेकिन इन सब फिल्मों से भी नवाज को पहचान नहीं मिली. इन सब के बाद भी नवाज़ रुके नहीं और हिम्मत के साथ आगे बढ़ते रहे. इसके बाद नवाज को संजय दत्त की फिल्म ‘मुन्ना भाई एम.बी.बी.एस’ में काम मिला. इस फिल्म में उन्होंने एक चोर का किरदार निभाया था जो स्टेशन पर संजय दत्त के पिता का पर्स चुरा लेता है. नवाज का इस फिल्म में भी छोटा ही रोल था. इतनी फिल्मों में काम करने के बाद भी नवाज को वो पहचान नहीं मिली थी जिसके लिए वो रात दिन मेहनत कर रहे थे.

बॉलीवुड में लगभग 12 साल के कड़े संघर्ष के बाद नवाजुद्दीन सिद्दीकी के हाथ डायरेक्टर अनुराग कश्यप की फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ लगी. इस फिल्म में नवाज की एक्टिंग ने लोगों का दिल जीत लिया, या यूं कहिए जिस पहचान के वो हकदार थे वो उन्हें उस फिल्म के बाद मिली.
इसके बाद ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर 2’ में भी नवाज के फैजल किरदार ने सभी का दिल जीत लिया. इन दो फिल्मों के बाद नवाज को उनकी मेहनत का असल फल मिला. इसके बाद उन्होंने किक, बदलापुर, मांझी द माउनटेन, द लंच बॉक्स, रमन राघव 2, रईस, मंटो और ठाकरे जैसी दमदार फिल्में कीं। अपनी दमदार एक्टिंग के बल पर नवाज नेशनल अवॉर्ड समेत कई अवॉर्ड जीत चुके हैं.

साल 2018 में अनुराग कश्यप की वेब सीरीज ‘सेक्रेड गेम्स’ में नवाज ने गणेश गायतोंडे का किरदार निभाया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here