इस कारण से नहीं हुई राधा और कृष्ण की शादी, पढ़ें

0
482

नई दिल्ली/आर्ची तिवारी। जैसा कि हम जानते हैं कि राधा कृष्ण की प्रेमिका थी, पर ये सवाल अक्सर मन में उठता है कि फिर भी कृष्ण की दीवानी राधा का विवाह श्री कृष्णा से नहीं हुआ। इसका क्या भेद हो सकता है। इस प्रश्न का उत्तर श्री भागवत पुराण में दिया गया है। तो आइए जानते हैं कि राधा रानी की अपने प्राणों से भी अधिक प्रिय कृष्ण के साथ विवाह क्यों नहीं हुआ.

कामाख्या मंदिर के चैकाने वाले रहस्य, यहां होती है योनि की पूजा

विवाह क्यों नहीं हुआ

ये सभी जानते हैं कि कृष्ण श्री विष्णु का अवतार और रुक्मिणी देवी लक्ष्मी का अवतार थीं। लेकिन यह बहुत कम लोग जानते हैं कि कृष्ण और राधा का अपना एक लोक है जिसको गौलोक कहते हैं। वहां राधा जी कृष्ण की शक्ति के रूप में निवास करती हैं, अर्थात राधा कृष्ण की शक्ति है पत्नी नहीं। राधा जी कृष्ण का ही एक भाग हैं जो कभी एक-दूसरे से अलग नहीं होता सिर्फ तन से ही अलग हैं लेकिन आत्मा एक ही है। श्री कृष्णा की पत्नी होने का दर्जा हमेशा रुक्मिणी जी को ही मिलता है वही राधा को हमेशा कृष्ण की प्रेमिका के रूप में जाना जाता है, और गौलोक में भी राधा कृष्ण पति पत्नी के रूप में नहीं बल्कि प्रेमी प्रेमिका के रूप में निवास करते हैं। यही कारण था कि मृत्युलोक में अवतार लेने पर भी राधा कृष्ण ने एक प्रेमी प्रेमिका के रूप में ही लीला रचाई और निश्छल प्रेम का संदेश जगत को दिया।

एक ऐसी अनोखी झील का रहस्य, जहां तैरते हैं सैकड़ों कंकाल

क्या था प्रेम का संदेश

राधा और कृष्ण संसार को सच्चे प्रेम की आखिरी सीमा तक ले जाना चाहते थे और दिखाना चाहते थे कि प्रेम निश्छल कैसे होता है? राधा की सांसों में कृष्ण का वास था परंतु जब अक्रूर जी कृष्ण को मथुरा ले जाने के लिए आए तब सभी वृंदावन वासी रोने बिलखने लगे पर वहीं राधा ज़रा भी विचलित न हुई। जब सखियों ने पूछा कि तुम क्यों उदास नहीं हो तब राधा ने कहा कि अगर प्रेम तन से होता तो तन के बिछड़ने से कष्ट होना स्वाभाविक था पर मुझे तो कान्हा के मन से प्रेम है जो कि उसका मन हमेशा मेरे पास ही रहता है तो मेरे विचलित होने का प्रश्न ही नहीं उठता। राधा और कृष्ण ने आत्मा से प्रेम करना सिखाया तथा संसार की दृष्टि से ‘जब तक विवाह न हो तब तक प्रेम अधूरा है’ इस परिभाषा को भी बदला क्योंकि वे एक-दूसरे से विवाह न करके भी एक-दूसरे की प्रेम डोर में हमेशा बंधे रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here