कृषि बिल को लेकर भारी विरोध, इंडिया गेट में कांग्रेसियों ने फूंका ट्रैक्टर देखें लाइव वीडियो

0
66
Congress protests burnt tractor at India Gate

नई दिल्ली/आशीष भट्ट। कृषि बिल के भारी विरोध के बाद राष्ट्रपति ने कल रात हस्ताक्षर कर उसे लागू करने की अनुमति दे दी, और कृषि बिल को लेकर अकाली दल से कई साल पुराना भाजपा का दामन छोड़ दिया, आज दिल्ली में इंडिया गेट के पास पंजाब यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने किसान बिल के विरोध में खिलाफ विरोध में प्रदर्शन करते हुए एक ट्रैक्टर को आग लगा दी. नई दिल्ली के DCP का कहना है, “करीब 15-20 लोग इकट्ठा हुए और एक ट्रैक्टर में आग लगाने की कोशिश की, आग बुझा दी गई है और ट्रैक्टर को भी हटा दिया है, घटना में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है, जांच चल रही है.”

ये भी पढ़ें अनुराग कश्यप की बढ़ी मुश्किलें, आज वकील संग दोबारा जाएंगी थाने

पुलिस ने बताया कि, इंडिया गेट के नजदीक ट्रैक्टर को आग के हवाले करने के आरोप में पुलिस ने 5 लोगों को हिरासत में लिया है. यह सभी पंजाब के रहने वाले हैं बताए जा रहे हैं. पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ कर रही है. मिली जानकारी के मुताबिक आरोपियों का नाम मनजोत सिंह, रमनदीप सिंह सिंधू, राहुल, साहिब और सुमित बताया जा रहा है. इस वीडियो को पंजाब कांग्रेस यूथ के पेज पर भी लाइव दिखाया गया था. जिसके बाद से आशंका जताई जा रही है कि सभी आरोपी कांग्रेस के कार्यकर्ता है.

ये भी पढ़ें लंबे समय से बिमार चल रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, PM समेत इन लोगों ने जताया दुख

इस घटना के बाद कांग्रेस की युवा ईकाई के ट्वीटर हैन्डल से एक पोस्ट की गई जिसमें लिखा था कि,’बहरों को सुनाने के लिए बहुत ऊँची
आवाज की आवश्यकता होती है’ यह बात शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने एसेम्बली
पर बम फेंकने के बाद कही थी, आज पंजाब यूथ कांग्रेस ने गूंगी बहरी सरकार को जगाने के लिए इंडिया गेट पर किसानों के साथ ट्रेक्टर आग के हवाले किया और प्रदर्शन किया. इंकलाब जिंदाबाद

ये भी पढ़ें माधुरी दीक्षित ने दिखाए अपने खतरनाक डांस मूव्स, इंटरनेट पर मचा तहलका

ये भी पढ़ें Bollywood Drug Case : NCB के दफ्तर पहुंची दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा प्रकाश

आपको बता दें कि मोदी सरकार ने मानसून सत्र में किसान सुधार को लेकर 3 बिल सदन से पास करवाए थे, जिसे अब राष्ट्रपति के द्वारा भी मंजूरी मिल चुकी है, अब यह बिल कानून बन कर पूरे देश में लागू हो जाएगा, इसी बिल के चलते विपक्ष विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, यहां तक कि एनडीए की सबसे पुरानी सहयोगी पार्टी अकाली दल ने इस बिल का विरोध करते हुए पहले मोदी कैबिनेट को छोड़ा अब एनडीए से अलग होकर भाजपा से भी रिश्ता तोड़ दिया.

ये भी पढ़ें कृषि बिल को लेकर भाजपा को बड़ा झटका, 24 साल पुराना अकाली दल का साथ छूटा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here